Whatsapp:+91-7087444710

घर में घी का दीपक :

रोज़ घर में घी का दीपक जलाने से घर में ही शुभता नहीं होती बल्कि पूरे परिवार का स्‍वास्‍थ्‍य भी बेहतर रहता है। दीपक जलाते समय इस बात का ध्‍यान रखना चाहिए कि उसकी लौ पूर्व या दक्षिण की ओर हो। जब दीपक जलाएं तो मध्‍य में फूलदार बाती लगाना चाहिए, इससे शुभता व स्‍वास्‍थ्‍य में वृद्धि होती है।

लोटे या गिलास में पानी भरकर :

रात को किसी लोटे या गिलास में पानी भरकर रख दें। सुबह उठकर उसे पी लें और पानी पीने के बाद उस बर्तन को उल्‍टा करके रख दें। माना जाता है कि इससे यकृत संबंधित परेशानियां दूर हो जाती हैं और इससे संबंधित परेशानी कभी होती नहीं तथा हमेशा उत्तम और अच्छा स्वास्थ्य बना रहता है। कुछ ही दिन के इस प्रयोग से अद्भुत परिणाम देखने को मिलते हैं।

कमरे में कपूर :

रात को सोते समय कमरे में कपूर जलाने से किसी तरह के ख़राब सपने या बीमारियों का आगमन नहीं होता है। रात को अच्‍छी नींद आती है और सुबह मन-मस्तिष्‍क फ्रेश रहता है। पितृदोष का नाश होता है तथा घर में शांति बनी रहती है।

धान कूटने वाला मूसल और झाडू रोगी :

एक अद्भुत टोटका है जिसका परिणाम प्रयोग करने के बाद नज़र आएगा। यदि घर में कोई बीमार है तो धान कूटने वाला मूसल और झाडू रोगी के ऊपर से उतार कर उसके सिरहाने रख दें। आश्‍चर्यजनक रूप से अच्छा स्वास्थ्य प्राप्त करते देखा गया है। दवाएं तेज़ी से कार्य करने लगती हैं।

मंदिरों में गुप्‍त दान :

मंदिरों में गुप्‍त दान करने से भी रोगी रोग मुक्‍त होते देखे गए हैं। दान करते समय इतना ध्‍यान देना चाहिए कि दान वाली वस्‍तुएं काली न हों और दान सोमवार को करना चाहिए।

कपास के पांच फूल :

कपास के पांच फूल लें रऔ रविवार की शाम को आधा कप पानी में भिगो दें। सुबह उठकर फूल निकालकर फेंक दें और पानी पी जाएं। फूल भिगोने के लिए रोज़ एक ही पात्र का प्रयोग करना चाहिए। पात्र बदलना नहीं चाहिए।

मधु (Honey)में चंदन :

बीमार व्‍यक्ति को मधु में चंदन मिलाकर चटाने से भी लाभ होता है।

रोगी का कपड़ा या पहनने वाली कोई वस्‍तु :

रोगी का कपड़ा या पहनने वाली कोई वस्‍तु उसके सिर पर सात बार ओइछ कर यानी क्‍लाकवाइज घुमाकर गुप्‍त दान कर देने से भी स्‍वास्‍थ्‍य में शीघ्रता से सुधार होता है। यह प्रयोग रोग मुक्‍त होने तक सप्‍ताह में एक बार अवश्‍य करना चाहिए।

यदि आप भी बेरोजगार हैं और बहुत प्रयत्न करने पर भी रोजगार नहीं मिल रहा है तो निराश होने की कोई जरुरत नहीं है।

 

कुछ साधारण तांत्रिक उपाय कर आप रोजगार पा सकते हैं।

शनैश्चरी अमावस्या के दिन एक कागजी नींबू लें और शाम के समय उसके चार टुकड़े करके किसी चौराहे पर चारों दिशाओं में फेंक दें। इसके प्रभाव से भी जल्दी ने बेरोजगारी की समस्या दूर हो जाएगी।

मंगलवार से प्रारंभ करते हुए 40 दिनों तक रोज सुबह के समय नंगे पैर हनुमानजी के मंदिर में जाएं और उन्हें लाल गुलाब के फूल चढ़ाएं। ऐसा करने से भी शीघ्र ही रोजगार मिलता है।

शनिवार को हनुमानजी के मंदिर में जाकर सवा किलो मोतीचूर के लड्डुओं का भोग लगाएं। घी का दीपक जलाएं और मंदिर में ही बैठकर लाल चंदन की या मूंगा की माला से 108 बार नीचे लिखे मंत्र का जप करें-

कवन सो काज कठिन जग माही।

जो नहीं होय तात तुम पाहिं।।

इसके बाद 40 दिनों तक रोज अपने घर के मंदिर में इस मंत्र का जप 108 बार करें। 40 दिनों के अंदर ही आपको रोजगार मिलेगा।

इंटरव्यू में जाने से पहले लाल चंदन की माला से नीचे लिखे मंत्र का 11 बार जप करें-

ऊँ वक्रतुण्डाय हुं

जप से पूर्व भगवान गणेश की पूजा करें और गणपति अथर्वशीर्ष का पाठ करते हुए दूध से अभिषेक करें।

बंद किस्मत खोले ताला :

सबसे पहले आप ताले की दुकान पर किसी भी शुक्रवार को जाएं और एक स्टील या लोहे का ताला खरीद लें। लेकिन ध्यान रखें ताला बंद होना चाहिए, खुला ताला नहीं। ताला खरीदते समय उसे न दुकानदार को खोलने दें और न आप खुद खोलें। ताला सही है या नहीं, यह जांचने के लिए भी न खोलें। बस, बंद ताले को खरीदकर ले आएं।

उस ताले को एक डिब्बे में रखें और शुक्रवार की रात को ही अपने सोने वाले कमरे में बिस्तर के पास रख लें। शनिवार सुबह उठकर स्नान आदि से निवृत्त होकर ताले को बिना खोले किसी मंदिर या देवस्थान पर रख दें। ताले को रखकर बिना कुछ बोले, बिना पलटें वापस अपने घर आ जाएं।

विश्वास और श्रद्धा रखें, जैसे ही कोई उस ताले को खोलेगा आपकी किस्मत का ताला भी खुल जाएगा। यह लाल किताब का जाना-माना प्रयोग है। अपनी किस्मत चमकाने के लिए इसे अवश्य आजमाएं…

शुक्रवार को पीले कपड़े में 5 कौड़ी और थोड़ी-सी केसर, चांदी के सिक्के के साथ बांधकर तिजोरी या धन रखने के स्थान पर रख दें। उसके साथ थोड़ी हल्दी की गांठें भी रख दें। कुछ दिनों में ही इसका असर होने लगेगा।

धन से बढ़ता धन :

अपनी तिजोरी में 10 के लगभग 100 से ज्यादा नोट रखें। जेब में हमेशा कुछ सिक्के रखें। खुद को धनवान मानना शुरू कर दें और उसी तरह से कपड़े पहनें और जो भी आप खरीदना चाहते हैं उसके बारे में कल्पना करें। जो लोग खुद को दरिद्र मानते हैं, वे हमेशा दरिद्र ही बने रहते हैं।

हमेशा सकारात्मक सोचें

और खुद को साफ और स्वच्छ बनाए रखें। प्रतिदिन मंदिर जाएं और जो मिला है उसके लिए धन्यवाद देने के साथ अपनी नई मांग रखें और उस मांग की पूर्ति का श्रद्धा और सबूरी के साथ इंतजार करें।

 विष्णु-लक्ष्मी का बड़ा-सा चित्र

घर में रहना चाहिए। शालिग्राम की नित्य पूजा पंचामृत के स्थान के साथ चंदन आदि लगाकर की जानी चाहिए।

 विष्णु-लक्ष्मी मंदिर में प्रति शुक्रवार को लाल रंग के फूल अर्पित किए जाने चाहिए।

 मां लक्ष्मी की प्रतिमा के सामने 11 दिनों तक अखंड ज्योत (तेल का दीपक) प्रज्वलित करें। 11वें दिन 11 कन्या को भोजन कराकर एक सिक्का व मेहंदी दें।

 शुक्रवार के दिन दक्षिणावर्ती शंख में जल भरकर भगवान विष्णु का अभिषेक करें। इस उपाय में मां लक्ष्मी जल्दी प्रसन्न हो जाती हैं।

आइए जानते हैं बेहद सरल और छोटे उपाय जो आपसी शांति और प्यार के लिए अचूक हैं।

रिश्तों को शांत और सुमधुर बनाने के लिए एक कप दूध में मीठा मिलाकर वटवृक्ष की जड़ में प्रतिदिन अर्पित करें और उस स्थान की जरा-सी गीली मिट्टी लेकर माथे या नाभि पर लगा लें। यह क्रिया सोमवार से शुरू करें और 43 दिन तक प्रतिदिन करते रहें, लाभ होगा।

सूर्यास्त पश्चात मंगलवार को गरीबों को सूजी का हलवा खाने को दें।

शुभ मुहूर्त में चांदी की अंगूठी में श्रीयं‍त्र धारण करें। पुरुष दाएं हाथ की तर्जनी में और स्त्रियां बाएं हाथ की तर्जनी में। प्रतिदिन प्रात: उसके दर्शन करें, अवश्य लाभ मिलेगा।

2 Comments  Like
  • सुबह सूरज उगने के समय एक गुड का डला लेकर किसी चौराहे पर जाकर दक्षिण की ओर मुंह करके खडे हो जांय ! गुड को अपने दांतों से दो हिस्सों में काट दीजिए ! गुड के दोनो हिस्सों को वहीं चौराहे पर फेंक दें और वापिस जांय

  • लगातार आठ मंगलवार हनुमान जी के मंदिर एक नारियल ले कर जाये उसके सिंदूर से स्वस्तिक बनाये हनुमान जी को अर्पित कर वहां बैठ कर ऋणमोचक मंगल स्तोत्र का पाठ करे

  • मंगलवार  के दिन एक साबुत पानी वाला नारियल लेकर उसे बीमार व्यक्ति के सिर पर से 21 बार उसार  कर किसी मंदिर की आग में डाल दें। साथ ही हनुमानजी की प्रतिमा को चोला चढ़ाकर हनुमानचालिसा पढ़े।आप मंगलवार के दिन राम मंदिर में जाएं और दाहिने हाथ के अंगुठे से हनुमान जी के सिर से सिंदूर लेकर सीता माता श्री चरणों में लगा दें इससे आपकी हर मनोकामना पूरी हो जाएगा।

  • मंगल के दिन सुबह के दिन एक धागे में चार मिर्चें नीचे डालकर उसके ऊपर नींबू डालें और फिर उसके ऊपर तीन मिर्चें और लगाए। इसके बद इसे घर और व्यवसाय के दरवाजे पर लटका दें। इससे नकारात्मकता खत्म हो जाएगी और सकारात्मकता का संचार होगा।

  • मंगलवार के दिन पीपल के 11 पत्ते लेकर साफ जल से धो लें। इन पत्तों पर चंदन या कुमकुम से प्रभु श्रीराम का नाम लिखें। इसके बाद हनुमान जी के मंदिर में जाकर इन पत्तों को अर्पित कर दें। इससे जीवन के दुख कम होंगे।मंगलवार को सुबह लाल गाय को रोटी देना शुभ है।

  • मंगलवार को हनुमान मंदिर या गणेश मंदिर में नारियल रखना अच्छा माना जाता है।

  • मिटटी के बर्तन में हनुमान जी को बूंदी का भोग लगाये , फिर गरीबो को दान कर दे

  • मंगलवार को हनुमान मंदिर में तुलसी का पत्ता चढ़ाए

  • राम लिखी लाल रंग की ध्वजा  मंगलवार को हनुमान जी को चढ़ाए

  • मंगलवार के दिन लाल चंदन,लाल गुलाब के फूल तथा रोली  को लाल कपड़े में बांधकर एक सप्ताह के लिए मंदिर में रख दें. एक सप्ताह के बाद उनको घर की तथा दुकान की तिजोरि में रख दें 

  • प्रत्येक मंगलवार को बच्चे के सिर पर से कच्चा दूध 11 बार वार कर किसी जंगली कुत्ते को शाम के समय पिला दें

 

 

हर दिन घर से निकलने से पहले हमारी आकांक्षा होती है कि पूरा दिन खुशनुमा व्यतीत हो। हर काम में सफलता मिले। 3 बहुत ही आसान से उपाय दिन को अनुकूल बनाते हैं।

घर से किसी भी शुभ कार्य के लिए निकलते समय पहले ‘श्री गणेशाय नम:’ बोलें फिर विपरीत दिशा में 4 पग जाएं, इसके बाद कार्य पर चले जाएं, कार्य जरूर बनेगा।

घर से निकलते वक्त गुड़ खाकर व थोड़ा-सा पानी पीकर ही जाए, तो कार्य में सफलता मिलेगी।

घर की दहलीज के बाहर कुछ काली मिर्ची के दाने बिखेर दें और उस पर से पैर रखकर निकल जाएं फिर पीछे पलटकर न देंखे। उक्त उपाय से बिगड़े कार्य बन जाएंगे।

1 Comment  Like